बच्चों का होमवर्क ट्यूशन क्लास – घर बैठे कमाई

बच्चों का होमवर्क ट्यूशन क्लास : बच्चों का होमवर्क करवाकर पैसे कमाना बहुत ही आसान काम है इस काम को आप पार्ट टाइम या फुल टाइम भी कर सकते है।

विश्व में भारत सबसे ज्यादा जनसंख्या वाले देशों की सूची में दूसरे पायदान पर है। भारत की लगभग 20% जनसंख्या 10 साल से भी छोटी है और 65 पर्सेंट जनसंख्या 35 साल से छोटी है।

आज के दौर में पति-पत्नी दोनों जॉब करने के लिए जाते हैं। दिन भर काम करने की वजह से बच्चों पर ज्यादा ध्यान नहीं दे पाते।

उन्हें अपने बच्चों का होमवर्क करवाना भी बहुत ज्यादा मुश्किल काम लगता है। यहीं पर युवाओं के लिए उनको ट्यूशन देने का अवसर पैदा हो जाता है। जिससे ना केवल ट्यूशन देने वाले का फायदा होगा बल्कि माता-पिता का भी फायदा होगा।

बच्चों का होमवर्क ट्यूशन क्लास कैसे शुरु करें

सबसे पहले तो यह बात ध्यान रखें कि आपके पास कोई भी बच्चा ज्यादा दूरी से नहीं आएगा क्योंकि कोई भी माता-पिता अपने बच्चे को ज्यादा दूर होमवर्क ट्यूशन के लिए नही भेजेंगे।

ट्यूशन आपको अपने मोहल्ले के बच्चों को ही देना है। अपने घर से सिर्फ 200 या 300 मीटर की दूरी तक ही सीमित रहना है जहाँ बच्चे अपने आप आ सके और जा सके।

बच्चों का होमवर्क ट्यूशन क्लास
homework notebook

ट्यूशन क्लास के लिए आपके पास क्या-क्या सुविधाएं होनी चाहिए

ट्यूशन देने के लिए आपके पास बच्चों की संख्या के हिसाब से एक बड़ा कमरा होना चाहिए जिसमें सभी बच्चे आसानी से बैठ सकें।

अगर आपके घर में ऐसी सुविधा नहीं है तो आप एक कमरा अपने मोहल्ले में किराए पर भी यह सकते हैं। लेकिन अगर आप घर पर व्यवस्था कर सके तो बेहतर होगा क्योंकि इससे आपका किराए का खर्च बच जाएगा।

बच्चों के बैठने के लिए मोटी दरी होनी चाहिए। जिससे सभी बच्चे उस पर आसानी से बैठ सकें। घर का माहौल शांत होना चाहिए। कमरा साफ सुथरा होना चाहिए।

कमरे के अंदर गर्मियों में पंखे, कूलर या AC की व्यवस्था होनी चाहिए। बच्चों के पीने के लिए शुद्ध पानी की व्यवस्था होनी चाहिए ताकि बच्चों को घर से साफ पानी नहीं लाना पड़े।

बच्चों को होमवर्क करवाते समय किन-किन बातों का ध्यान रखें

बच्चों को पानी पिलाकर क्लास में आराम से अपनी जगह बैठने के लिए कहे।

सबसे पहले सभी बच्चों को उनकी नोटबुक निकलवाकर होमवर्क स्टार्ट करने के लिए कहे। उसके बाद सभी बच्चों की एक-एक करके पहले वाले दिन का होमवर्क चेक करें कि टीचर ने कोई नोट तो नहीं दिया है।

अगर टीचर ने कोई नोट दिया है तो बच्चों को समझाए कि इसे कैसे ठीक करना है और आगे से ध्यान से रखने के लिए कहे। और हो सकते तो बच्चे के माता-पिता को इसके बारे में जरुर बताए।

आपको एक बच्चे की सभी नोटबुक चेक करनी होगी। एक-एक करके सभी बच्चों का होमवर्क बुक चेक करें।

बीच-बीच में बच्चों से पूछते रहें अगर उन्हें कुछ समझ नहीं आता है तो उन्हें समझाए। उनकी हैंडराइटिंग पर भी ध्यान दें। बच्चों को होमवर्क बुक को साफ सुथरा रखना सिखाएं।

किसी बच्चे को अगर कोई बात समझ नहीं आती है तो उसका समाधान करें।

student writing

आपके सामने आने वाली समस्याएं तथा उनका समाधान

सबसे बड़ी समस्या तो यह आएगी कि आपको कोई जानता नहीं है। इसलिए आपको लोगों के घर-घर जाकर उनसे मिलना पड़ सकता है।

शुरुआत के दिनों में अगर कम बच्चे हो तो घबराएं नहीं अपना काम अच्छी तरह करते रहे। अगर आप काम अच्छा करेंगे तो आप की पब्लिसिटी होगी।

ध्यान रहे कोई भी बिज़नेस सबसे ज्यादा सफल माउथ पब्लिसिटी से होता है। इसमें आपका कोई खर्चा भी नहीं होता।

अगर आपके कोशिश करने के बाद भी कोई आपके पास ट्यूशन करने नहीं आता तो आप एक स्कीम निकालिए “शुरुआत के 2 महीने बिल्कुल Free होमवर्क ट्यूशन” यकीन मानिए 5 से 10 बच्चे तो आ ही जाएंगे।

Free में ट्यूशन करवाने पर आपको भी फायदा होगा जैसे आपने अभी-अभी होमवर्क ट्यूशन शुरू किया है आप नहीं जानते कि आपको क्या-क्या समस्याएं आ सकती हैं और आपको उनका समाधान कैसे करना है। जब आप दो महीने फ्री में ट्यूशन देंगे तो आपको भी एक्सपीरियंस हो जाएगा जिससे आपका कॉन्फिडेंस भी बढ़ेगा।

जब आप दो महीने बाद Fees लेना स्टार्ट करेंगे तो यकीन मानिए ज्यादातर बच्चे छोड़कर नहीं जाएंगे क्योंकि बच्चे आपके साथ कंफर्टेबल हो जाएंगे और वह अपने माता-पिता को भी मना लेंगे।

बच्चों के माता-पिता के लिए भी यह फायदेमंद होगा क्योंकि इससे उनका काम भी आसान हो जायेगा। फ्री ट्यूशन देने में भी आपका कोई नुकसान नहीं है क्योंकि इस काम में आपको कोई पैसा खर्च भी नहीं होने वाला।

होमवर्क ट्यूशन क्लास के फायदे

आपको खुद पढाई करने कि जरुरत नही है। इस काम के लिए आपको प्रत्येक सब्जेक्ट का बेसिक ज्ञान होना चाहिए क्योंकि आपको 1 से 5 क्लास के बच्चों को होमवर्क करवाना है उन्हें पढाना नही है।

कुछ बच्चों के माता-पिता हिंदी मीडियम में पढ़े लिखे होते है और उनके बच्चे इंग्लिश मीडियम में पढ़ते है इस कारण उन्हें बच्चों का होमवर्क करवाने में दिक्कत आती है।

इस काम में आपके प्रत्येक दिन शाम को सिर्फ 2 घंटे खर्च होंगे बाकि का पूरा दिन आप कोई और काम भी कर सकते है।

अपने होमवर्क ट्यूशन क्लास की मार्केटिंग कैसे करें

सबसे पहले आपको अपने होमवर्क ट्यूशन क्लास का नाम सोचना होगा।

अपने घर के बाहर एक बोर्ड लगा दे जिस पर होमवर्क ट्यूशन क्लास सेंटर का नाम और एड्रेस लिखा होना चाहिए। साथ ही साथ आपको अपना नाम तथा परिचय भी जरुर देना चाहिए।

उसके बाद आपको अपने मोहल्ले में भी यह खबर फैला देनी होगी कि आपने ट्यूशन सेंटर खोला है और आपको कुछ बच्चों के घर जाकर उनके माता-पिता से मिलना होगा। उनको यह विश्वास दिलाना होगा कि आप उनकी किस प्रकार मदद कर सकते हैं।

शुरुआत में आपको एक बच्चे की फीस प्रत्येक महीने कि 500 से 1000 रुपए के बीच ही रखनी है। क्योंकि पहले आपको लोगों का विश्वास जीतना होगा कि हां आप अच्छा काम कर रहे हैं उसके बाद आप चाहे तो फीस थोड़ा बढ़ा सकते हैं।

बच्चों के माता-पिता को आपको बताना होगा कि आप बच्चों को क्या-क्या सुविधाएं देंगे और कैसे। आपको ऐसे बच्चों को खोजना है जिनके माता-पिता दोनों जॉब करते हो।

इस काम में मुनाफा

ट्यूशन क्लास शुरु करने के एक साल बाद, मान लेते है कि आपके पास कम से कम 20 बच्चे ट्यूशन करते है और एक बच्चे कि कम से कम फीस 1000 रुपए है तो आप प्रत्येक महीने के 20,000 रुपए कमा सकते है।

निष्कर्ष

बच्चों का होमवर्क ट्यूशन क्लास को आप जीरो इन्वेस्टमेंट के साथ भी शुरु कर सकते है।

यह बहुत ही आसान काम है इसमें आपको ज्यादा मेहनत करने कि जरुरत नही है।

आटा चक्की बिजनेस – घर बैठे कमाई

अचार बनाने का बिजनेस कैसे करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!